18 मिनट में ले उड़े 100 तोले सोना-9 लाख रुपए

  • News
  • August,11,2018
  • admin
  • 133
  • 0

लुधियाना केगुरदेव नगर में ट्रैक्टर पार्ट्स कारोबारी मधुसूदन के घर 10 दिन पहले रखे नौकर ने कमरे व अलमारी के ताले तोड़कर 100 तोले सोना और 9 लाख रुपए कैश चोरी कर लिया। मालिक की घर में खड़ी सफेद रंग की इटिओस कार(पीबी10 डीडी 8183) भी नौकर चुराकर ले गया। नेपाल के रहने वाले नौकर को बिना पुलिस वेरीफिकेशन के रखा गया था। आरोपी ने वारदात को अंजाम देने से पहले मालिक को लैंड लाइन नंबर से फोन कर उनके आने के बारे में पूछा और फिर वारदात को अंजाम दिया। घटना के दौरान मधुसूदन अपने परिवार समेत रिश्तेदार के भोग में शामिल होने के लिए गए थे। दोपहर 2.30 बजे घर के सदस्य लौटे तो घटना का पता चला। इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। थाना डिवीजन 5 पुलिस ने मधुसूदन की शिकायत पर नौकर विक्रम(20) के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने नौकर को रखवाने वाले के मोबाइल नंबर पर फोन किया लेकिन वो भी बंद आ रहा।
शिकायतकर्ता मधुसूदन का ट्रैक्टर पार्ट्स का कारोबार है। वे अपनी पत्नी और पिता के साथ रहते हैं। उनका नौकर कुछ दिन पहले नौकरी छोड़कर चला गया। इसके चलते उन्होंने कुछ लोगों को नया नौकर ढूंढकर देने के लिए कहा था। गली के लोगों की कारें धोने वाले एक व्यक्ति ने करीब 10 दिन पहले आरोपी नेपाल के रहने वाले नौकर विक्रम को उनके घर नौकरी पर रखवा दिया। उन्होंने विक्रम की पुलिस वेरीफिकेशन नहीं करवाई। वीरवार दोपहर करीब एक बजे मधुसूदन अपने परिवार के साथ किसी रिश्तेदार के भोग में शामिल होने के लिए किचलू नगर चले गए। घर पर विक्रम अकेला ही था। कुछ देर बाद विक्रम ने मधु सूदन को फोन करके घर आने का समय पूछा। जिस पर उन्होंने एक घंटे तक वापस आने की बात कही। इसी दौरान उसने पहले कमरों के ताले तोड़े और फिर अलमारी व लॉकर के लॉक तोड़कर सोना व कैश चुरा लिया। डेढ़ घंटे बाद कारोबारी घर आए तो देखा कि कमरे के ताले टूटे हुए थे और सामान चोरी हो चुका था।

कई बार कहने के बावजूद नहीं दिए आईडी प्रूफ
घर के सदस्यों ने आरोपी विक्रम की पुलिस वेरीफिकेशन नहीं करवाई थी। न ही उनके पास उसका कोई मोबाइल नंबर व तस्वीर है। मधु सुदन के अनुसार जब कार धोने वाले व्यक्ति ने उसे रखवाया तो उन्होंने आईडी प्रूफ देने के लिए कहा। लेकिन विक्रम ने आईडी प्रूफ किसी जानकार के पास पड़े होने की बात कही। मधुसूदन के अनुसार उन्होंने कई बार उसे आधार कार्ड व फोटो देने को कहा, लेकिन वह हर वार टाल देता था। इसी के चलते उसने अपना मोबाइल नंबर भी घर के सदस्योंं को नहीं दिया था। घर के सदस्यों के अनुसार विक्रम हर चीज पर नजर रखता था। वह घर आने जाने व्यक्ति पर ध्यान देता था।

घर में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की तारें काटीं
घर के अंदर कई जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, लेकिन आरोपी ने कैमरों की तारें कई जगह से काट दीं। सभी कैमरों की तारें काटने के बाद उसने रूम में पड़े डीवीआर को भी नुकसान पहुंचाने की कोशिश की, ताकि उसकी फोटो न आ सके। लेकिन डीवीआर बच गया। इंस्पेक्टर जतिंदर चोपड़ा के अनुसार डीवीआर को कब्जे में लेकर उससे आरोपी की फोटो निकालने की कोशिश की जा रही है।

नौकर को रखवाने वाले का मोबाइल बंद

मधुसूदन के पड़ोसियों ने आरोपी को वारदात के बाद कार में सामान रखकर ले जाते हुए देखा था। पड़ोसियों ने बताया कि वह घर के बाहर खड़े थे। इसी दौरान विक्रम ने तेजी से कार बाहर निकाली और एक बड़ी पोटली अंदर से लेकर आया। जिसमें उसने गहने और कैश रखा होगा। उसने पोटली को डिग्गी में रखा और कार लेकर तेजी से फरार हो गया। पड़ोसियों के अनुसार विक्रम तेज रफ्तार से कार लेकर गया और मेन गेट खुला ही छोड़ गया। उन्हें देखने में शक लगा। इससे पहले भी वीरवार की सुबह विक्रम ने किसी बात पर खुश होने की बात कह पार्क में बैठे कई लोगों को चाय बांटी थी। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने विक्रम को काम पर रखने वाले व्यक्ति के मोबाइल की लोकेशन ट्रेस की। उसकी आखिरी लोकेशन फिरोजगांधी मार्केट की आ रही है। उसके बाद से उसका भी मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा है।

पंजाबभर में कार का नंबर भेजकर किया अलर्ट
नौकर कुछ दिन पहले ही रखा था। उसकी पुलिस वेरीफिकेशन नहीं करवाई, न ही घर के मालिक के पास उसका कोई एड्रेस व आईडी प्रूफ है। पंजाबभर में कार का नंबर भेजकर अलर्ट कर दिया गया है। कार को ट्रेस किया जा रहा है। इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों से फुटेज लेने की कोशिश की जा रही है।- गुरप्रीत कौर पुरेवाल, एडीसीपी

Readmore: BHASKAR

live a comment